सीपीएम और एनसीपी के प्रतिनिधि को छोड़ कर कोई नहीं आया ईवीएम चैलेन्ज में

डीकेएस डेस्क, 3 जून। नई दिल्ली,
केंद्रीय चुनाव आयोग द्वारा ई वी एम हैक चुनौती में भाग लेने के लिए सीपीएम और एनसीपी पार्टी के प्रतिनधि के अलावा किसी अन्य दल ने भाग नहीं लिया।
सुबह 10 बजे शुरू हुआ. जानकारी के अनुसार चुनाव आयोग ने कुल 14 ईवीएम को चैलेंज के लिए रखी थी। आज के चैलेंज को स्वीकार करते हुए केवल दो ही दल के प्रतिनिधि वहां पहुंचे। सीपीएम और एनसीपी के प्रतिनिधि वहां पर पहुंचे थे। दोनों ही दलों के प्रतिनिधियों को चार-चार ईवीएम दी गई थी। लेकिन दो घंटे बाद सीपीएम और एनसीपी ने साफ किया कि वे केवल प्रक्रिया को समझने आए थे। उन्होंने चुनाव आयोग की चुनौती स्वीकार नहीं की थी। चुनाव आयोग ने भी कहा कि राजनीतिक दलों ने ईवीएम को लेकर दी गई चुनौती को स्वीकार करने से इनकार कर दिया है।
कहा जा रहा था कि राजनीतिक दलों के ये लोग इथिकल हैकर्स हैं। ये लोग इलेक्ट्रॉनिक की फील्ड से हैं। सीपीएम ने पहले ही मान लिया है कि ईवीएम टैंपर प्रूफ है। लेकिन वह एक मौके का इस्तेमाल करना चाहती हैं और देखना चाहती है कि क्या कुछ ऐसा हो सकता है।
इस चैलेंज को मीडिया को देखने की इजाजत नहीं थी। चुनाव आयोग ने कहा कि वह पीआईबी के ट्विटर हैंडल के जरिए जानकारी लगातार साझा करते रहेंगे।

लेखक के बारे में

उत्तर छोड़ दें