सरकार को मानव तस्करी रोधी विधेयक को शीघ्र पारित करवाना चाहिए : विशेषज्ञ

Related image

भाषा: विशेषज्ञों का कहना है कि सरकार को प्रस्तावित मानव तस्करी रोधी विधेयक को शीघ्र पारित करवाना चाहिए तथा इस संगठित अपराध से निबटने के लिए प्रभावी प्रवर्तन तंत्र कायम करना चाहिए।
मसौदा व्यक्तियों की तस्करी :रोकथाम, संरक्षण एवं पुनर्वास: विधेयक का लक्ष्य इस प्रकार के चलन और संबंधित मामलों में मजबूत कानूनी, आर्थिक एवं सामाजिक माहौल तैयार करना है।

टाटा इंस्टीट्यूट आफ सोशल साइसेंज के चेयर प्रोफेसर पी एम नायर ने कहा, ‘‘यदि ढंग से नहीं निबटा गया तो नोटबंदी के कारण कथित रूप से तस्करी में आयी कमी बढ़ सकती है। सरकार को मानव तस्करी रोधी विधेयक को शीघ्र पारित करवाना चाहिए ताकि स्थिति पर समग्रता से नियंत्रण रखा जा सके।’’ उन्होंने कहा कि मानव तस्करी एक संगठित अपराध है तथा इससे निबटने के लिए विशेष दक्षता की जरूरत है।

जिंदल इंस्टीट्यूट आफ बिहेविरल साइंसेज के प्रधानाध्यापक निदेशक संजीव पी सहानी ने कहा कि मानव तस्करी रोधी विधेयक के प्रस्तावित मसौदे में काफी संभावनाएं नजर आ रही है क्योंकि इसमें पीड़ितों के पुनर्वास के लिए व्यापक प्रावधान है।

उन्होंने कहा कि बहरहाल, विधेयक अभी तक समुचित नहीं कहा जा सकता क्योंकि उन पीड़ितों के बारे में सुविधाजनक रूप से अनदेखी कर दी जाती है जो भाग जाते हैं या बंधक बनाने वाले लोगों के कब्जे से बच जाते हैं।

लेखक के बारे में

उत्तर छोड़ दें