विनिवेश से पहले चार कंपनियों में बंटेगी एयर इंडिया !


सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया के विनिवेश से ज्यादा रकम पाने के लिए उसे बिक्री के पहले चार कंपनियों में बांटे जाने की तैयारी है। सरकार की कोशिश होगी कि विनिवेश के दौरान हर कंपनी में कम से कम 51 फीसदी की हिस्सेदारी जरूर बेची जाए।
ब्लूमबर्ग की सोमवार की आई रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। नागरिक विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया कि विनिवेश की यह प्रक्रिया 2018 के अंत तक पूरी कर ली जाएगी। भारी कर्ज से जूझ रही कंपनी को मुख्य एयरलाइन कारोबार, क्षेत्रीय शाखाएं, जमीनी परिसंचालन और इंजीनयिरिंग परिचालन के हिस्से में बांटा जाएगा।
एयर इंडिया 2007 से लगातार घाटे में चल रही है, उसी साल एयर इंडिया में उसके घरेलू परिचालन इंडियन एयरलाइंस का विलय किया गया था। वर्ष 2015-16 में कंपनी ने तेल के दामों में भारी कमी के कारण एक अरब डॉलर का परिचालन लाभ भी कमाया। लेकिन कर्ज और अन्य लागतों की वजह से उसने 38.4 अरब रुपये का घाटा हुआ। उसके 29 हजार से ज्यादा कर्मचारी हैं।

लेखक के बारे में

उत्तर छोड़ दें