मे से मुलाकात में ब्रेक्जिट को विश्व के लिए ‘वरदान’ बताया ट्रम्प ने

Image result for trump and may

भाषा: अमेरिका के नए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यूरोपीय संघ छोड़ने के ब्रिटेन के निर्णय को दुनिया का ‘वरदान’ बताते हुए कहा है कि इससे इस यूरोपीय देश को अपनी ‘खुद की पहचान’ मिलेगी। ट्रंप राष्ट्रपति पद संभालने के बाद अपनी पहली शिखर बैठक में ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरिजा मे से मिले।
ट्रंप ने व्हाइट हाउस में सुर्ख परिधान में आयीं ब्रिटेन की प्रधानमंत्री का खुद बाहर आ कर स्वागत किया और इसके बाद दोनों नेताओं की अमेरिकी राष्ट्रपति के कार्यालय ओवल आफिस में बैठक चली।

बैठक के बाद दोनों ने संवाददाताओं को संबोधित किया। ट्रंम्प ने यूरोपीय संघ :ईयू: छोड़ने के ब्रिटेन के निर्णय का समर्थन किया। उन्होंने कहा, ‘एक मुक्त और स्वतंत्र ब्रिटेन विश्व के लिए वरदान है और हमारे संबंध इससे मजबूत कभी नहीं रहे।’ दोनों ने पारस्परिक वाणिज्यिक संबंधों की मजबूती के लिए काम करने का वायदा किया है।

मे को उम्मीद है कि अमेरिका के साथ जल्द से जल्द एक नया व्यापार समझौता हो जाने पर ब्रेक्जिट :ईयू छोड़ने: का असर कम होगा।

मे ने अमेरिकी राष्ट्रपति को अपने देश आने का न्योता दिया। ट्रंप आगे इसी वर्ष वहां की यात्रा करेंगे। मे ने कहा कि दोनों देशों के रक्षा संबंध इस समय अपनी सबसे गहराई पर है और दोनों के बीच व्यापार मझौता दोनों के राष्ट्रीय हित में होगा। ट्रम्प ने का कि ब्रिटेन का ईयू छोड़ना उसके लिए ‘कमाल की बात है.. मेरा मानना है कि चीजें स्थिर होने के बाद आपको :ब्रिटेन को: आप की खुद की पहचान मिलेगी। इससे आप अपने देश में उन्हीं लोगों को आने देंगे जिन्हें आप आने देना चाहतें हैं।

ट्रम्प ने यह भी कहा कि ब्रेक्जिट के बाद ब्रिटेन दूसरे देशों के साथ ‘मुक्त व्यापार समझौते करने को स्वतंत्र होगा’ और कोई अन्य यह ताक झांक नहीं कर रहा होगा कि ‘आप क्या कर रहे हैं।’ रूस पर लगाए गए आर्थिक प्रतिबंधों को हटाए जाने के बारे में जब ट्रंप से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस बारे में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी।

जबकि मे ने उम्मीद जताई कि ये प्रतिबंध अभी जारी रहेंगे।

लेखक के बारे में

उत्तर छोड़ दें