महिला पत्रकारों की शिकायत पर जांच करेगी पुलिस

भाषा: केरल पुलिस महिला पत्रकारों की एक संस्था के उस आरोप की जांच करेगी कि पूर्व परिवहन मंत्री ए के शशीन्द्रन की कथित आपत्तिजनक बातचीत के मामले में उनमें से एक पत्रकार की भूमिका के आरोपों के बाद उन्हें ‘‘शर्मनाक’’ स्थिति का सामना करना पड़ रहा है।
‘नेटवर्क ऑफ वुमेन इन मीडिया, इंडिया’ से जुड़ी पत्रकारों ने मुख्यमंत्री पिनरई विजयन से की गयी शिकायत में आरोप लगाया कि आपत्तिजनक बातचीत के प्रकरण में एक महिला पत्रकार की भूमिका को लेकर मीडिया के एक वर्ग आयी खबरों के बाद उन्हें ‘‘शर्मनाक’’ स्थिति का सामना करना पड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि इससे उनके काम पर विपरीत असर पड़ा है और स्थिति इस हद तक बिगड़ गयी है कि महिला पत्रकारों का ‘अपमान’ किया जा रहा है और उन पर ‘शक’ किया जा रहा है।

पत्रकारों की संस्था की ओर से गीता नजीर और जिशा सूर्या के हस्ताक्षर वाली शिकायत में कहा गया है कि सच सामने लाने के लिए इस मामले की व्यापक जांच किये जाने की जररत है।

मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि उन्होंने पुलिस को यह शिकायत भेज दी है और पुलिस इस आरोप की विस्तृत जांच करेगी।

एलडीएफ मंत्रालय में राकांपा के मंत्री रहे शशीन्द्रन ने मलयालम टेलीविजन चैनल पर एक ऑडियो क्लिप प्रसारित होने के बाद 26 मार्च को इस्तीफा दे दिया था। इस ऑडियो क्लिप में कथित तौर पर वे टेलीफोन पर कामुक आवाज में एक महिला से बात कर रहे हैं।

चैनल ने दावा किया था कि महिला एक गृहिणी थी जिसने अपनी कुछ समस्याओं के समाधान के लिए मंत्री को फोन किया था।

लेखक के बारे में

उत्तर छोड़ दें