बाबरी विध्वंस मामले में आडवाणी, जोशी और उमा समेत 12 पर आरोप तय, चलेगा आपराधिक साजिश का केस


-नित्यानंद गायेन, 30 मई, नई दिल्ली,
बाबरी मस्जिद गिराने के मामले में सीबीआई की स्पेशल अदालत में आडवाणी समेत सभी 12 आरोपियों पर आरोप तय हो गए हैं। बाबरी विध्वंस मामले में इन आरोपियों पर 120 ठ के तहत आरोप तय किए गए हैं। इस मामले में आडवाणी और जोशी पर आपराधिक साजिश का केस चलेगा। इस मामले में सीबीआई ने आडवाणी और 20 अन्य के खिलाफ धारा 153ए, 153बी और 505 समेत कई अन्य धाराओं के तहत आरोप पत्र दाखिल किया था।

विशेष सीबीआई न्यायाधीश एसके यादव की अदालत में पूर्व उप प्रधानमंत्री आडवाणी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री जोशी, मौजूदा केन्द्रीय मंत्री उमा भारती, भाजपा नेता विनय कटियार, विश्व हिन्दू परिषद के नेता विष्णु हरि डालमिया और साध्वी रितम्भरा ने खुद को आरोपों से बरी किये जाने का आवेदन अदालत में दिया, जिसे न्यायाधीश ने खारिज कर दिया।
अदालत ने आदेश में कहा कि अभियुक्त आडवाणी, जोशी, कटियार, डालमिया, उमा भारती, रितम्भरा के विरद्ध भारतीय दण्ड विधान की धारा 120 (ब) (आपराधिक साजिश रचने) तथा पूर्व सांसद रामविलास वेदान्ती, बैकुंठलाल शर्मा उर्फ प्रेम, चम्पत राय, नृत्य गोपालदास, धर्मदास तथा सतीश प्रधान के खिलाफ 120 (ब), 153 (अ एवं ब), 295, 295 (अ), 505, 147 तथा 149 का आरोप तय किये जाने के लिये पर्याप्त साक्ष्य मौजूद हैं।
इस सुनवाई के दौरन व्यक्तिगत रूप से पेश होने के लिए भाजपा के वयोवृद्ध नेता एलके आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती पहुंचे थे। इसके अलावा बीजेपी नेता विनय कटियार, एक समय हिंदुत्व की फायरब्रांड नेता रहीं साध्वी रितंभरा मौजूद थे। कोर्ट ने सभी छह अभियुक्तों को 50,000 रुपये के निजी बांड पर जमानत दे दी।
कोर्ट ने पिछले महीने निर्देश दिया था कि 1992 के बाबरी विध्वंस केस में आडवाणी, जोशी, उमा भारती और अन्य पर षडयंत्र के आरोपों को लेकर मुकदमा चलेगा और रायबरेली से मामले को लखनऊ स्थानांतरित कर दिया गया, जहां इसी से जुड़ा एक अन्य मामला चल रहा है।

लेखक के बारे में

उत्तर छोड़ दें