नोटबंदी का एक साल पूरी तरह फ्लॉपः यशवंत सिन्हा


डीकेएस डेस्क, नयी दिल्ली,
पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने एनडीटीवी से कहा कि नोटबंदी का एक साल पूरी तरह से फ्लॉप रहा है।जीएसटी काउंसिल की बैठक पर उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री ने इसे पूरी तरह से बिगाड़ दिया है।
बेटे जयंत सिन्हा का नाम पैराडाइज पेपर्स में सामने आने पर यशवंत सिन्हा ने कहा कि सभी आरोपों की जांच कमिशन को करनी चाहिए लेकिन अमित शाह के बेटे जय शाह को इससे अलग नहीं किया जा सकता। अमित शाह के बेटे पर लगे आरोप पर यशवंत सिन्हा ने कहा -’भ्रष्टाचार पर जीरो टोलेरेंस की बात कहने वाली बीजेपी नैतिक आधार खो चुकी है।’ वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को “पूरी तरह रद्दी” बताते हुए सिन्हा ने कहा है कि इसे मरम्मत करके सुधारा नहीं जा सकता। यशवंत सिन्हा ने अपने बेटे जयंत सिन्हा समेत पैराडाइज पेपर्स में जिन भी नेताओं का नाम आया है उनके खिलाफ जाँच की माँग की है। सिन्हा ने कहा कि जयंत सिन्हा की जांच होनी चाहिए बशर्ते बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की वित्तीय अनिमितता के मामले में जांच की जाए।यशवंत सिन्हा ने एनडीटीवी से कहा, “सरकार से मेरी मांग है कि जिन लोगों के नाम पैराडाइज पेपर्स में आए हैं उनके खिलाफ समयबद्ध तरीके से जाँच होनी चाहिए।
जहाँ एक तरफ पूर्व वित्त मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिंह ने केंद्र की मोदी सरकार को जीएसटी और नोटबंदी के मामले में पूरी तरह विफल बताया, वहीं एक नेता और बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट किया है ’इस पोस्ट ने सोच में डाल दिया.. अगर ’नोटबंदी’ से लोग खुश होते तो जश्न सरकार नहीं, लोग मना रहे होते।’
शत्रुघ्न सिन्हा का यह ट्वीट ऐसे समय आया है, जब वरिष्ठ भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने जीएसटी को ठीक से लागू नहीं करने का आरोप लगाते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली से इस्तीफा मांगा है। विदित हो कि भाजपा ने नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर ’एंटी ब्लैकमनी डे’ मनाया था।

लेखक के बारे में

उत्तर छोड़ दें