टिकट बंटवारे के साथ कांग्रेस में बगावत शुरू

भाषा: नगर निगम चुनाव में कांग्रेस में टिकट वितरण के साथ ही असंतुष्ट नेता दूसरे दलों का रख करने लगे है। कांग्रेस के पूर्व विधायक अंबरीश सिंह गौतम ने आज भारतीय जनता पार्टी :भाजपा: का दामन थामकर इसकी शुरआत कर दी। वहीं शीला दीक्षित सरकार में 15 साल तक मंत्री रहे वरिष्ठ नेता डा. एके वालिया ने भी टिकट वितरण से नाराज होकर पार्टी छोड़ने की धमकी दी है। जबकि टिकट कटने से नाराज मौजूदा पाषर्दों ने निगम चुनाव में बतौर निर्दलीय उम्मीदवार अपनी दावेदारी पेश कर दी है।

इस बीच तीन बार विधायक रहे पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष गौतम ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ले ली। गौतम ने कांग्रेस में टिकट वितरण प्रक्रिया में पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं की अनदेखी को अपनी नाराजगी की मुख्य वजह बताया। जबकि डा. वालिया ने प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन और प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको को पत्र लिखकर अपनी नाराजगी से अवगत करा दिया है। डा. वालिया ने टिकट वितरण में गंभीर अनियमितताओं का आरोप लगाया है। उन्होंने लक्ष्मी नगर विधानसभा क्षेत्र में जीत की संभावना वाले दावेदारों को नजरंदाज करने की शिकायत करते हुये कहा कि पार्टी नेतृत्व अगर आज शाम तक टिकट वितरण में हुयी भूल को नहीं सुधारेगा तो वह कांग्रेस से इस्तीफा दे देंगे।

वहीं रविवार देर रात जारी की गयी कांग्रेस उम्मीदवारों की दूसरी सूची से नाम गायब होने से नाराज घोंडली वार्ड से पाषर्द इशरत जहां ने भी बागी तेवर अपना लिये हैं। उन्होंने आज बतौर निर्दलीय उम्मीदवार नामांकन दाखिल करने की घोषणा कर दी। जबकि बाबरपुर जनता कॉलोनी से कांग्रेस पाषर्द जाकिर खान ने भी टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है।

ज्ञात हो कि कांग्रेस ने अब तक 267 उम्मीदवार घोषित कर दिये है। आज नामांकन का अंतिम दिन है। पार्टी शेष बचे पांच उम्मीदवारों की आज घोषणा करेगी। जबकि भाजपा ने 66 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी। इनमें 26 पूर्वी दिल्ली और 40 उत्तरी निगम के उम्मीदवार हैं। भाजपा अब तक 272 में से 226 सीट पर उम्मीदवार घोषित कर चुकी है।

लेखक के बारे में

उत्तर छोड़ दें